10th Anniversary of Forest Rights Act: National Convention, Dec, Delhi

October 14, 2016

ANNOUNCEMENT FOR THE NATIONAL CONVENTION ON COMMUNITY FOREST RIGHTS

13th and 14th December 2016, New Delhi

Organised by the Community Forest Rights-Learning and Advocacy Process [1]

As the Scheduled Tribes and Other Traditional Forest Dwellers (Recognition of Forest Rights) Act, 2006 (also the Forest Rights Act) completes the 10thyear of its enactment, a National Convention is planned to be held on the 13th -14th of December in New Delhi as part of the CFR-LA process.  The Convention aims to highlight, discuss and deliberate on some of the key issues and challenges emerging from the implementation of the Forest Rights Act, particularly the Community Forest Rights and Community Forest Resource rights provisions. On this occasion a national study report ‘Promise and Performance of Forest Rights Act: The 10th Anniversary Report’ will be released which will highlight the potential of FRA and CFR rights, status of recognition of rights at the national and state level, and key challenges and bottlenecks affecting the implementation process.

The Convention will have panel discussions and sharing of experiences by members of the community. It will also provide a space for exhibitions by community members and organizations on initiatives of CFR claims and recognition, exercise of rights over non timber forest produces and to narrate their stories of assertions over their community forests in other ways.

घोषना!!

सामुदायिक वन हक्क (CFR) पर सीख और वकालत की प्रक्रिया (CFR-LA) द्वारा आयोजित सामुदायिक वन हक्क पर राष्ट्रीय स्तरीय सम्मलेन

१३-१४ दिसम्बर, नई दिल्ली

वन हक्क अधिनियम के क्रियान्वयन के दसवे साल में पधारने के मौके पर  १३-१४ दिसम्बर को नई दिल्ली में सामुदायिक वन हक्क पर सम्मलेन आयोजित किया जा रहा है.

यह सम्मलेन सामुदायिक वन हक्क और सामुदायिक वन संसाधनो पर वन हक्क के क्रियान्वयन से उभरते कुछ मुख्य मुद्दों और चुनौतियों पर रौशनी डालने और चर्चा और विमर्श करने के लिए रखा गया है.

इस सम्मलेन में, “वन हक़ कानून का वादा और प्रदर्शन: दसवीं सालगिरह का एक बयान” नामक रिपोर्ट भी पेश की जाएगी. इस रिपोर्ट में CFR हक्क की आज की स्तिथि (राष्ट्रीय और प्रदेशो के स्तर पर) बनाम FRA के क्रियान्वयन के संभाव्य मे दिख रहे अंतर को दर्शाया गया है.

सम्मलेन में प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जायेगा जिस में समुदाय, संगठन और संस्थाओं के सदस्य अपने CFR क्रियान्वयन के अनुभव और अपने यहाँ से वन उपजों को दर्शा सकते है.

 

[1] The Community Forest Rights-Learning and Advocacy (CFR-LA) process was started in 2011 to facilitate exchange of information and experiences and to reinforce national level efforts for evidence-based advocacy on Community Forest Rights (CFRs). This process involves organizations and individuals working at local, national and international level on facilitating and/or understanding CFRs.

CFR-LA की शुरुआत २०११ में CFR पर जानकारी और अनुभवों को बाटने और राष्ट्रीय स्टार पर CFR के लिए सबूत के आधार पर वकालत करने के लिए की गयी. इस प्रक्रिया में ऐसे सनससंस्थान और व्यक्ति शामिल है जो स्थानीय, राष्ट्रीय या अंतरास्ट्रीय स्तर पर CFR के सम्बन्ध में समझ बनाने की कोषिष कर रहे है।