RD Nimesh commission report released in Lucknow By political & social activists

March 19, 2013

The following is a press release on the R.D. Nimesh commission report. This commission was set up by the BSP government in UP to investigate the arrests of Tariq Qasmi and Khalid Mujahid. The commission handed its report in on August 31, 2012, but the report was suppressed by the current SP government in Lucknow. The entire report (hindi pdf) can be downloaded here.

एकल सदस्यीय निमेष जांच आयोग रिपोर्ट को सामाजिक-राजनीतिक कार्यकताओं ने
जनहित में किया जारी।

लखनऊ, 17 मार्च 2013/
नवंबर 2007 में यूपी कचहरी धमकों के बाद 12 दिसंबर 2007 को आजमगढ़ से तारिक कासमी और 16 दिसंबर 2007 को मडि़याहूं से खालिद मुजाहिद की गिरफ्तारियों के बाद 22 दिसंबर को उन्हें बाराबंकी से
गिरफ्तार किए जाने के यूपी एसटीएफ के दावों पर उठे सवालों पर तत्कालीन बसपा सरकार द्वारा इन गिरफ्तारियों पर उठे सवालों की जांच के लिए गठित आर डी निमेष जांच आयोग की रिपोर्ट पिछले साल 31 अग्स्त 2012 को वर्तमान सपा सरकार को आर डी निमेष आयोग ने सौंप दिया था। लेकिन जनहित के लिए काफी अहम इस रिपोर्ट को सरकार ने नहीं जारी किया। पिछले कुछ महीनों में इस रिपोर्ट के कुछ हिस्से मीडिया माध्यमों में प्रकाशित हो चुके हैं जिसमें यह बात सामने आई है कि तारिक और खालिद की गिरफ्तारियां संदिग्ध थीं। साथ ही रिपोर्ट यूपी एसटीएफ की गैरकानूनी कार्यप्रणाली पर भी गंभीर सवाल
उठाती है।

ऐसे में इस रिपोर्ट को सरकार को जारी कर देना चाहिए था पर उसके द्वारा इसे 7 महीने बाद भी जारी न करना उसकी नीयत पर सवाल उठाता है। ऐसे में हम यह महसूस करते हुए कि इस रिपोर्ट का सार्वजनिक होना जनहित में है, इसे आज सोशलिस्ट पार्टी के लखनऊ स्थित कार्यालय से जारी कर रहे हैं।

द्वारा जारी- संदीप पाण्डे, गिरीश पाण्डे, इमरान अली, मसीहुद्दीन संजरी, शाहनवाज आलम, राजीव यादव।

संपर्क- 05222347365, 09415254919, 09452800752

नोट- एकल सदस्यीय निमेष जांच आयोग रिपोर्ट मेल में संलग्न है।